नाम बापसी व चुनाव चिन्ह लेने वाले उम्मीदवारों की उमड़ी भीड़, मिले चुनाव चिन्ह

IndiaBelieveNews
Image Credit: IndiaBelieveNews

फतेहगंज पश्चिमी, बरेली। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए उम्मीदवारों के लिए पदवार प्रतीक चिन्ह निर्धारित किए गए है। प्रधान के उम्मीदवार जहां तोप, त्रिशूल, कुल्हाड़ी सहित अलग-अलग 57 चुनाव चिन्ह लेकर मैदान में जोर आजमाईश करेंगे, वहीं ग्राम पंचायत सदस्य के 18, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 36 तथा जिला पंचायत सदस्य के लिए 53 चुनाव चिन्ह निर्धारित किए गए है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में नाम वापसी व चुनाव चिन्ह आवंटन के दौरान ब्लॉक परिसर फतेहगंज पश्चिमी मैं उम्मीदवारों की भारी भीड़ उमड़ी। सुरक्षा व्यवस्था मे तैनात पुलिस कर्मियों को भी भीड़ को नियंत्रण करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। कोविड-19 के गाइडलाइन का उम्मीदवारों ने जमकर अनदेखी की। वही ब्लॉक कर्मी व पुलिसकर्मी भीड़ को बार-बार मास्क लगाने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की चेतावनी देते नजर आए। मगर पुलिसकर्मियों एवं ब्लॉक कर्मियों की बार-बार दी जाने वाली चेतावनी का उम्मीदवारों पर कोई असर नहीं दिखाई दिया। कतार मे लगे लोग चुनाव चिन्ह पाने के लिए एक दूसरे के ऊपर धक्का-मुक्की करते नजर आए। बुधवार की सुबह आठ बजे से लेकर देर शाम तक प्रत्याशियों का चुनाव चिन्ह लेने के लिए ब्लॉक परिसर में जमघट लगा रहा। इस दौरान महिला प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह लेने के लिए काफी परेशानी उठानी पड़ी। महिलाओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। भीड़ को देखते हुए प्रशासनिक अमला भी लाचार नजर आया। बुधवार की सुबह आठ बजे से ही खंड विकास कार्यालय मे प्रत्याशियों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया। दोपहर तक भारी भीड़ ब्लॉक परिसर में जमा हो गई और तीन बजे तक नाम वापसी का दौर चलता रहा। तीन बजे के बाद ड्यूटी पर तैनात कर्मियों ने प्रत्याशियों के चुनाव चिन्ह आवंटन की प्रक्रिया शुरू की। ग्राम पंचायत सदस्य के लिए आम, ओखली, अंगूर, केला, गुलाब का फूल, घड़ा, डमरू, तम्बू, नल, पेंसिल, फरसा, बंदूक, बल्ला, ब्रुश, ब्लैक बोर्ड, रिक्शा, शंख, सुराही निर्धारित की गई है। इसी प्रकार प्रधान के लिए अनाज ओसता हुआ किसान, इमली, कन्नी, कार, किताब, कैमरा, कैरम बोर्ड, कोट, खड़ाऊं, गदा, गले का हार, घंटी चारपाई, चूडिय़ां, छत का पंखा, टेबिल लैंप, टोकरी, डेस्क, ड्रम, तांगा, तोप, त्रिशुल, दरवाजा, धनुष, धान का पेड़, पत्तियां, पहिया, पालकी, पुल, फावड़ा, फुटबाल, फूल और घास, बल्लेबाज, बस, बांसुरी, बाल्टी, बिजली का खंभा, बिजली का बल्ब, बेंच, बैलगाड़ी, भवन, भुट्टा, मोटर साइकिल, मोमबत्ती, रिंच, लिफाफा, वायुयान, हथौड़ा, आइसक्रीम, आलमारी, ऊन का गोला, कंघा, गुब्बारा, गैस सिलेंडर, टमाटर, दीवार घड़ी, प्रेशर कुकर चुनाव चिन्ह मिले। वही सदस्य क्षेत्र पंचायत के लिए अनार, अलाव और आदमी, अंगूठी, आटा चक्की (चकिया), ईंट, कढ़ाही, कांच का गिलास, कुंआ, केला का पेड़, गुल्ली डंडा, गेंद और हाकी, चकला बेसन, चिडिय़ा का घोंसला, जीप, टार्च, टेबिल फैन, टैंक, टोपी, तलवार, दमकल (आग बुझाने वाली गाड़ी), नारियल, पतंग, पानी का जहाज, प्रेस, फ्राक, भगौना, रेल का इंजन, लड़का लड़की, लेटर बाक्स, शहनाई, सरौता, सिलाई मशीन, स्टूल, स्लेट, हंसिया, हारमोनियम चुनाव चिन्ह मिले है। इसके अलावा सदस्य जिला पंचायत के लिए आरी, उगता सूरज, कप और प्लेट, कलम और दवात, कुल्हाड़ी, केतली, कैंची, क्रेन, खजूर का पेड़, गमला, गिटार, घुड़सवार, चश्मा, छड़ी, छाता, झोपड़ी, टाइपराइटर, टेलीफोन, टेलीविजन, ट्रैक्टर, ढोलक, तरकस, तराजू, ताला चाबी, थरमस, नाव, पिस्टल, फसल काटता किसान, फावड़ा-बेलचा, बल्ला, मछली, रेडियो, रोड रोलर, लट्टू, लाउड स्पीकर, वृक्ष, शेर, सितारा, सिर पर कलश लिए स्त्री, सीटी, सैनिक, स्कूटर, हाथ ठेला, हल, हेलीकाप्टर, कटहल, मेज, मोबाइल फोन, लहसुन, सपेरा, सीमेंट की बोरी, सूट केस, हैंगर चुनाव चिन्ह आवंटन किए गए।।

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written’.
View all posts

Leave a Reply