भिण्ड-:मुख्यमंत्री श्री चौहान 63 हजार नवीन हितग्राहियों को वितरित करेंगे किसान क्रेडिट कार्ड सहकारी बैंकों/समितियों को मिलेगी 800 करोड़ रूपये की शासकीय सहायता

IndiaBelieveNews
Image Credit: IndiaBelieveNews

 

भिण्ड 21 सितम्बर, 2020/प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में प्रदेश में मनाये जा रहे गरीब कल्याण सप्ताह अन्तर्गत 22 सितंबर मंगलवार को 63 हजार कृषकों, पशुपालकों एवं मत्स्य पालक हितग्राहियों को नवीन किसान क्रेडिट कार्ड वितरित किये जायेंगे। ष्सबको साख-सबका विकासष् राज्य-स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान प्रातरू 11रू30 बजे मिन्टो हॉल में करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया द्वारा की जाएगी। कार्यक्रम में प्रदेश के किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर सहकारी बैंकों/समितियों को 800 करोड़ रूपये की सहायता भी प्रदान की जायेगी।  

मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों, पशुपालकों एवं मत्स्य पालकों से सीधा संवाद भी किया जाएगा। इस अवसर पर अपेक्स बैंक द्वारा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री सहायता कोष के लिये एक करोड़ रूपये की राशि भेंट की जाएगी। कार्यक्रम का क्षेत्रीय न्यूज चैनल्स और सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर लाइव प्रसारण किया जाएगा।

सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया ने कहा है कि किसानों, पशुपालकों और मत्स्य पालकों का विकास करना प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। राज्य सरकार उन्हें आर्थिक सुदृढ़ता प्रदान करने के लिये क्रेडिट कार्ड और शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराने के लिये सहकारी बैंकों को आवश्यक राशि भी उपलब्ध करा रही है।

कार्यक्रम से जुड़ने के लिये मेपआईटी ने भेजे रिकार्ड 2 करोड़ मेसेज

ष्सबको साख-सबका विकासष् की भावना से आयोजित इस कार्यक्रम में आम लोगों के जुड़ने के नये कीर्तिमान स्थापित होंगे। प्रमुख सचिव सहकारिता श्री उमाकांत उमराव ने बताया कि सहकारिता विभाग द्वारा मेपआईटी (ड।च्प्ज्) के माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ने हेतु फ्री-रजिस्ट्रेशन के लिये लगभग 2 करोड़ लोगों को मेसेज भिजवाये गये हैं। इसके लिये जरूरी डाटा मेपआईटी को उपलब्ध कराया गया है।

12 लाख लोग जुड़ेंगे लाइव टेलीकास्ट से

 प्रमुख सचिव सहकारिता श्री उमराव ने बताया कि ष्सबको साख-सबका विकासष् थीम अन्तर्गत 22 सितंबर को आयोजित होने वाले सहकारिता विभाग के कार्यक्रम को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाने के लिये 40-45 हजार स्थानों पर लाइव टेलीकास्ट की व्यवस्था करवाई गई है, जिसमें लगभग 12 लाख लोग जुड़ेंगे। साथ ही कार्यक्रम में 15 लाख लोगों को मायगोव (डलहवअ) के माध्यम से सीधे जोड़ने के लिये वेबलिंक भी भेजी गई है। कार्यक्रम से जुड़ने वाली संख्या के मान से यह एक नया कीर्तिमान होगा।

क्रमांक 158/2020

कृषि बिल सेकिसानों के सशक्तिकरण के नए युग की शुरूआत

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दिया प्रधानमंत्री श्री मोदी को धन्यवाद

भिण्ड 21 सितम्बर, 2020/मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संसद में पारित कृषि बिल किसानों के सशक्तिकरण की दृष्टि से ऐतिहासिक है। यह बिल एक नए युग की शुरूआत है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस किसान हितैषी बिल के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी को धन्यवाद दिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बिल का विरोध करने वालों की अनावश्यक भ्रम फैलाने के लिए आलोचना की है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पहले लोकसभा और आज राज्यसभा में पारित कृषि बिल किसानों की आय बढ़ाने, उत्पादन का बेहतर मूल्य दिलाने, उन्हें अतिरिक्त आय का विकल्प प्रदान करने की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। मध्यप्रदेश के किसान भी बिल का समर्थन कर रहे हैं क्योंकि इसके पश्चात भी कृषि मण्डी का अस्तित्व रहेगा। व्यापार चालू रहेगा। किसान मण्डी के बाहर फसल का विक्रय करना चाहे तो उसे नहीं रोका जाना चाहिए। यदि किसान को किसी वेयर हाउस, निजी मण्डी पर भी विक्रय की सुविधा और बेहतर दाम मिल रहे तो इससे किसी को आपत्ति नहीं होना चाहिए। यदि कोई फूड प्रोसेसर किसान से सीधे ही उत्पाद खरीदना चाहे तो बिचौलियों को क्यों अपने लाभ की चिंता सताती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सीधे निर्यातक भी किसान से उपज खरीदने के बाद एक्सपोर्ट करता है तो किसी को क्या समस्या है, यह समझ से परे है। कृषि विधेयक के संबंध में कुछ लोग भ्रम फैलाने का प्रयास कर रहे हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने किसानों के हित में निरंतर निर्णय लिए हैं। किसान की आय दुगनी करने का अभियान भी चल रहा है। केन्द्र सरकार के साथ मध्यप्रदेश सरकार भी किसानों के अधिक से अधिक कल्याण के लिए कटिबद्ध है।

I think all aspiring and professional writers out there will agree when I say that ‘We are never fully satisfied with our work. We always feel that we can do better and that our best piece is yet to be written’.
View all posts

Leave a Reply