BREAKING NEWS : शासन के निर्देश पर रामपुर गार्डन बना हॉटस्पॉट, किया सील रामपुर गार्डन का एक डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव फेसबुक पर दाऊद इब्राहिम के नाम से बनाई फर्जी आईडी, इमामों पर की गयी टिप्पणी यूनिवर्सिटी मूल्यांकन को लेकर शिक्षक बना रहे तरह तरह के बहाने श्रमिक स्पेशल ट्रेन में पानी नही, जंक्शन पर मजदूरों ने किया हंगामा गर्मी का पारा पहुंचा हाई तो बिजली का मीटर हुआ डाउन विधवा व बुजुर्ग पेंशनरों के खातों में नहीं पहुंची किस्त प्रतियोगिता में खूबसूरती के जलवे बिखेर रही है युवतियां व बच्चे आंख की रोशनी व चेहरे की सुंदरता बढ़ाने में नेचुरल (ब्लीच) है गुणकारी- पपीता फल इटावा-फलों को पकाने में रसायनों का इस्तेमाल न करें कारोबारी:जिलाधिकारीजे. बी. सिंह

लोक डाउन के मद्देनजर खतौली तहसील में राशन डीलर उड़ा रहे हैं नियमों की धज्जियां

उत्तर प्रदेश(मुजफ्फरनगर):-  कोरोना वायरस नाम की बीमारी ने सभी लोगों की सुरक्षा की दृष्टि से भारत देश को लॉक डाउन करने को मजबूर कर दिया है । जिसके चलते देश के गरीब व्यक्तियों का जीना मुहाल हो गया था बहुत से परिवार सुबह काम करने के लिए निकल जाते और फिर उसी पैसे से शाम का खाने का इंतजाम करते हैं जिसके चलते देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के के लिए आदेश जारी किया था कि सभी राशन डीलर मनरेगा जॉब कार्ड श्रमिक पंजीकरण कार्ड धारकों को पर यूनिट 3 किलो गेहूं 2 किलो चावल बिल्कुल मुफ्त दिया जाना था। मगर जनपद मुजफ्फरनगर की तहसील खतौली के दिनकर पुर सहित अन्य गांव के डीलरों ने देश के प्रधानमंत्री के आदेश को नहीं मानते हुए ज्यादातर सभी श्रमिक पंजीकरण मनरेगा जॉब कार्डधारकों कुछ रिकॉर्ड अपनी मसीन व रजिस्टर में लेते हुए फ्री राशन वितरण न कर कार्ड धारकों से की गई अवैध वसूली जिसके चलते पुरबालियान के कुछ लोगों ने जिसकी शिकायत जिला पूर्ति अधिकारी ओर मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर पर भेजते हुए भ्रष्ट डीलरों के खिलाफ कार्यवाही की मांग उठाई है राकेश नामक सरकारी राशन की दुकान पर पहुंच कर गरीब लोगों ने अपना हक मांगने की उठाई मांग लाभार्थियों ने बताया कि जॉब कार्ड धारकों एवं पंजीकरण पर भी नहीं दिया जा रहा राशन बात यही खत्म नहीं हो जाती दिनकर पुर के राशन डीलर राकेश ने कई लाभार्थियों से प्रति यूनिट पर कालाबाजारी करते हुए राशन कम दिया है और विरोध करने पर कार्ड धारको को राशन वितरण कर रहे राकेश डीलर का कहना है कि शासन-प्रशासन की ओर से हम डीलरों को कुछ नहीं मिलता इसलिए प्रत्येक व्यक्ति से रखना होता है थोड़ा राशन जब इस विषय में खाद्य विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि संबंधित डीलर की जांच कर दोषी पाए जाने पर उचित कार्यवाही की जाएगी।



मुजफ्फरनगर संवाददाता:- संजय कुमार

access_time07 Apr 2020 11:04 AM


#Trending