BREAKING NEWS : बेसिक में किताबों की ढुलाई की जांच भी ठंडे बस्ते में पुलिस ने लाइसेंस निरस्तीकरण की रिपोर्ट भेजी मशहूर शायर राहत इंदौरी के इंतकाल पर पेश की खिराज-ए-अकीदत शेरगढ़ में मंदिर की भूमि पर पंचायत भवन न बनवाए जाने को एसडीएम व केंद्रीय मंत्री से मिले ग्रामीण नौकरी का झांसा देने वाली बारह युवतियां परिजनों के सुपुर्द, मुख्य आरोपी भेजा गया जेल आरोग्य सेतु एप पर बारादरी थाने के दरोगा में कोरोना की दहशत मंदिरों में सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रही पाबंदी, घरों में मनाया जन्मोत्सव राधा-कृष्ण की मनमोहक झांकी ने मोह लिया मन मौलाना रशीदी के विवादित बयान पर हिंदू शक्ति दल ने एनकाउंटर की मांग निजीकरण के खात्मे को एकजुट होकर लड़ें : शिवगोपाल

होलिका दहन के दिन माफियाओं की बलि की भेंट चढ़ गई नाबालिक लड़की

मोरम माफियाओं के काले कारनामे ने लील ली नौनिहाल की जिंदगी

पिता को खाना देने जा रही थी नाबालिक लड़की, मोरम माफियाओं के ट्रक ने रौंद कर छीन ली जिंदगी 

उत्तर प्रदेश(बांदा):- जनपद बांदा में बालू के कारोबार के काले कारनामे मे अक्सर लोगों के जेहन में उतरकर एक बुरी याददाश्त के रूप में दर्ज हो जाते हैं। जैसा कि आज हुआ है कि अवैध तरीके से ओवरलोड बालू परिवहन करने वाले वाहनों पर लगाम न लगाने के कारण एक नौनिहाल लड़की की जिंदगी ओवरलोड बालू भरे ट्रक ने छीन ली है। जहां घटना उपरांत स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा ट्रक को रोककर तोड़फोड़ की गई है.. और रास्ते को 3 से 4 घंटे के बीच में जाम करके आवागमन ठप कर दिया गया है.. जहां संबंधित स्थानीय प्रशासनिक तंत्र द्वारा पहुंचकर के लोगों को समझाने-बुझाने का काम किया जा रहा है।



जनपद बांदा के पैलानी थाना क्षेत्र अंतर्गत संचालित खदान 62/63 से आज एक बालू परिवहन करने वाला एक ट्रक खदान से ओवरलोड होकर के अनियंत्रित गति रफ्तार से खदान से निकला था। तभी गांव की ही रहने वाली एक नाबालिग लड़की रोशनी पुत्री जयपाल निषाद जो अपने पिता के लिए खाना लेकर के नदी के किनारे जा रही थी। जिसके पिता सब्जी उगाने का काम बारी का काम नदी के किनारे करते थे.. उसे अनियंत्रित गति रफ्तार ट्रक ने कुचल कर मौत के घाट उतार दिया है। जहां आक्रोशित लोगों के द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर के ट्रक पर तोड़फोड़ की और आग लगाने का भी प्रयास किया लेकिन स्थानीय पुलिस प्रशासन के द्वारा समय से पहुंच जाने के उपरांत.. भीड़ को समझा-बुझाकर आक्रोश को शांत कराया गया। लेकिन फिर भी ग्रामीणों के द्वारा घटनास्थल पर मार्ग 3 से 4 घंटे के बीच में जाम रखा गया। और शव को मार्ग मे रखकर के पिता और मां के द्वारा न्याय पाने की गुहार लगाते रहे। लेकिन सोचने की बात यह है। कि सत्ता पक्ष सरकार के द्वारा जहां अवैधानिक से कृत्य होने पर पटाक्षेप करते हुए कार्यवाही की बात संबंधित अधिकारियों से करवाने को कहती है.. वही जिले का प्रशासनिक तंत्र व संबंधित खनिज विभाग इन अव्यवस्थाओं के प्रति जान कर भी अंजान बना रहता है। और खेद का विषय है कि धन की आकांक्षा को पालते हुए किसी को बेसहारा करने के लिए मजबूर करके छोड़ जाते हैं। लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि ऐसी घटनाक्रम पर जो कि अक्सर बालू माफियाओं के द्वारा घटित होती है..उन पर लगाम कब लगेगी।

बांदा ब्यूरो:- साकेत बिहारी अवस्थी 

access_time10 Mar 2020 01:03 PM


#Trending