BREAKING NEWS : शासन के निर्देश पर रामपुर गार्डन बना हॉटस्पॉट, किया सील रामपुर गार्डन का एक डॉक्टर भी कोरोना पॉजिटिव फेसबुक पर दाऊद इब्राहिम के नाम से बनाई फर्जी आईडी, इमामों पर की गयी टिप्पणी यूनिवर्सिटी मूल्यांकन को लेकर शिक्षक बना रहे तरह तरह के बहाने श्रमिक स्पेशल ट्रेन में पानी नही, जंक्शन पर मजदूरों ने किया हंगामा गर्मी का पारा पहुंचा हाई तो बिजली का मीटर हुआ डाउन विधवा व बुजुर्ग पेंशनरों के खातों में नहीं पहुंची किस्त प्रतियोगिता में खूबसूरती के जलवे बिखेर रही है युवतियां व बच्चे आंख की रोशनी व चेहरे की सुंदरता बढ़ाने में नेचुरल (ब्लीच) है गुणकारी- पपीता फल इटावा-फलों को पकाने में रसायनों का इस्तेमाल न करें कारोबारी:जिलाधिकारीजे. बी. सिंह

मेडिकल कॉलेज में क्वारंटीन की गई रंगकर्मी ने डाली पोस्ट, प्लीज मेरी मदद कीजिए

शाहजहांपुर:- दिल्ली से लौटकर आईं शाहजहांपुर निवासी रंगकर्मी शालू यादव को मेडिकल कॉलेज में क्वारंटीन किया गया। रंगकर्मी शालू यादव ने बुधवार को फेसबुक पर एक पोस्ट डाली। मदद की गुहार की, जिससे हड़कंप मच गया। शालू यादव ने लिखा कि उन्हें ताले में बंद कर दिया गया है। हैंडवॉश, सेनेटाइजर की मांग की। शालू ने लिखा कि उनके साथ जेल से भी बदतर व्यवहार किया जा रहा है। शालू की फेसबुक पोस्ट का लिंग उनके साथी रंगकर्मियों ने हजारों लोगों को पोस्ट कर दिया। इसके बाद शासन स्तर से जिला प्रशासन से जवाब मांगा जाने लगा। दोपहर में डीएम इंद्र विक्रम सिंह और एसपी एस चनप्पा खुद अस्पताल गए। पूरी व्यवस्था देखी। इस बीच कुछ रंगकर्मी भी अस्पताल गए। तब सीएमएस ने पूरे हालात से अवगत कराया। शाहजहांपुर की रहने वाली रंगकर्मी शालू यादव को मंगलवार को मेडिकल कॉलेज में क्वारंटीन किया गया। शालू ने बुधवार को फेसबुक पर एक पोस्ट अपलोड की। उसमें कहा कि वार्ड में अकेली हूं। बाहर से ताला लगा है। बाहर कोई महिला गार्ड नहीं है। मच्छरों से बचाव का कोई साधन नहीं है। पीने को पानी नहीं है। अपनी सुरक्षा को लेकर डरी हुई हूं। इस व्यवहार से खिन्न हूं। ऐसा लग रहा है मैंने खून कर दिया है। सुबह कोविड 19 का सैंपल लेने के बाद किसी ने हाल भी नहीं लिया। दिल्ली से घर लौटे 18 दिन बीत चुके हैं। बुखार व बदन में दर्द था। डाक्टर से दवा ली। उन्होंने सीजनल बुखार बताया। कहा कि आशा कार्यकत्री ने फोन पर ट्रैवल हिस्ट्री पूछी थी। इसके बाद अस्पताल से कॉल आई। दस मिनट में अस्पताल पहुंची। वहां मेरा सैंपल लिया और सूनसान वार्ड में रखा। सैनेटाइज तक नहीं किया। प्लीज कोई मेरी मदद कीजिए। सीएमओ डा. राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि लखनऊ भेजे गए सैंपलों की रिपोर्ट नहीं आई है। युवती अकेली होने की वजह से घबरा गई थी। क्वारंटीन में सभी को अकेले ही रखा जाता है। इससे पहले भी कई क्वारंटीन किए गए। कोई शिकायत नहीं आई। बता दें कि वरिष्ठ रंगकर्मी जरीफ मलिक आनंद शालू की पोस्ट पढ़कर मेडिकल कालेज पहुंचे। शालू के लिए खाना भी ले गए, लेकिन मेडिकल कालेज प्रशासन ने कहा कि युवती को अस्पताल का ही बना हुआ खाना दिया जा सकता है। बाहर का नहीं। डाक्टरों ने पूरे हालात की जानकारी दी, इसके बाद वह चले गए।। 



बरेली मण्डल ब्यूरो:- कपिल यादव

access_time08 Apr 2020 01:04 PM


#Trending